'Letter to Elder Brother- Assurance of Education from the lives of Great Men' in Hindi | 'Bade Bhai ko Patra- Mahapurushon ke Jeevan se Shiksha Grahan karne ka Ashvasan'

Monday, January 15, 2018


बड़े भाई को पत्र- महापुरुषों के जीवन से शिक्षा ग्रहण करने का आश्वासन 

भवन संख्या- XXX
इन्दिरा नगर,
लखनऊ

परम स्नेही भ्राता जी,
सादर चरण स्पर्श।

निवेदन यह है कि जब से आप दिल्ली गए हैं, आपने घर पर कोई पत्र नहीं भेजा। मम्मी-पापा भी आपको याद करके काफी परेशान होते हैं। मैं नियमित रूप से स्कूल जा रहा हूँ और खूब पढ़ाई कर रहा हूँ। आपके द्वारा भेजी गई पुस्तक अमर कहानी बड़ी ही अच्छी और ज्ञानवर्धक लगी है। इस पुस्तक को पढ़कर मैं अवश्य देश पर मर मिटने वाले महापुरुषों के जीवन से कुछ न कुछ शिक्षा ग्रहण करने की कोशिश करूँगा। आशा है आप आगे भी इसी प्रकार की पुस्तकें भेजकर मुझे महापुरुषों की जीवनी से अवगत कराते रहेंगे।

स्नेहमयी भाभी जी को सादर चरण स्पर्श। प्रिय अंशु को प्यार। मम्मी-पापा की ओर से आप तीनों को शुभकामनाएँ और आशीर्वाद।

आपका स्नेह-पात्र
15 जनवरी, 2018

XXX

'Letter to Elder Brother- Assurance of Education from the lives of Great Men' in Hindi | 'Bade Bhai ko Patra- Mahapurushon ke Jeevan se Shiksha Grahan karne ka Ashvasan' SocialTwist Tell-a-Friend

0 comments:

Post a Comment